Epf withdraw without employer signature, नियोक्ता हस्ताक्षर के बिना ईपीएफ निकासी

Epf withdraw without employer signature,
नियोक्ता हस्ताक्षर के बिना ईपीएफ निकासी

ईपीएफ निकासी के नियम

* यदि आपने दो महीने से अधिक सेवा पूरी की है तो आप अपनी ईपीएफ राशि निकाल सकते हैं।
* आप कुछ स्थितियों में पीएफ खाते से एडवांस भी निकाल सकते हैं।
* यदि आप 5 साल की निरंतर सेवा से पहले पीएफ निकालते हैं, तो पीएफ राशि कर योग्य होगी।
* यदि आपकी यूएएन एक्टिवेट तथा केवाईसी वेरीफाई है तो आप ऑनलाइन पीएफ निकाल सकते हैं|

नियोक्ता की उत्पीड़न

नियम के अनुसार कोई नियोक्ता किसी कर्मचारी की ईपीएफ राशि नहीं रोक सकता है। लेकिन, कई नियोक्ता कर्मचारी को परेशान करने के लिए ईपीएफ निकासी फॉर्म को मंजूरी नहीं देते हैं। नियोक्ता ईपीएफ निकासी फॉर्म पर हस्ताक्षर के लिये नोटिस अवधि लागू करने का प्रयास करते हैं। अर्थात यदि कोई कर्मचारी इस्तीफा दिए बगैर नौकरी छोड़ देता है तो उससे नोटिस पीरियड नौकरी करने पर जोर दिया जाता है | ग़लत नियोक्ता के बीच यह अवैध अभ्यास बहुत आम है। इसके अलावा कई कंपनियां कुछ साल बाद बंद हो जाते हैं जिसके कर्मचारी पीएफ की राशि निकालने हेतु भटकते रहते हैं| इन कारणों से कर्मचारी पीड़ित है। क्या आप उनमें से एक हैं?

आप नियोक्ता हस्ताक्षर के बिना पीएफ प्राप्त कर सकते हैं
You Can Get PF Without Employer Signature

सौभाग्य से, चीजें बेहतर हो रही हैं। ईपीएफओ वास्तव में नियोक्ता की उच्च सौहार्द रखने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा है। सबसे पहले यह कि-ऑनलाइन पीएफ ट्रांसफर कर सकते हैं, जिसने पीएफ खाता ट्रांसफर को आसान बना दिया। दूसरा, यह यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (UAN NUMBER) आया जिसने पीएफ ट्रांसफर को और आसान कर दिया। अब,इसमें नियोक्ता अनुमोदन के बिना ईपीएफ निकासी भी संभव है। यूएएन ने ईपीएफ निकासी को बहुत आसान बना दिया है।
नियोक्ता हस्ताक्षर के बिना ईपीएफ वापस लेने के दो तरीके हैं।

1. ईपीएफ निकासी जिसने आधार संख्या दी है

ईपीएफओ ने आधार से जुड़े ईपीएफ निकासी (aadhaar inked epf withdrawal) की शुरुआत की है। ईपीएफ निकासी के इस तरीके को नियोक्ता के प्रमाणीकरण की आवश्यकता नहीं है।

लेकिन, इस आसान सुविधा का लाभ उठाने के लिए, आपको इन शर्तों को पूरा करना होगा।

* आपके पास यूएएन होना चाहिए। ईपीएफओ द्वारा यूएएन आवंटित किया गया है। आप यूएएन की जांच कर सकते हैं। यहां तक ​​कि, आप UAN NUMBER generate भी कर सकते हैं।
* आपके पास यूएएन से जुड़े बैंक खाता चालू होना चाहिये|
* यूएएन से जुड़े आधार आपके नियोक्ता द्वारा सत्यापित होना चाहिए|

ईपीएफ निकासी की यह प्रक्रिया आपकी पहचान और केवाईसी विवरण से संबंधित कुछ भी नहीं पूछती है। ईपीएफओ आपकी पहचान को आधार डेटा के साथ सत्यापित करता है और नियोक्ता द्वारा प्रमाणित खाते में रकम जमा करता है। जब आप सेवा में होते हैं तो नियोक्ता से बैंक विवरण और आधार संख्या सत्यापित करने के लिए कहा जाता है।

ईपीएफ निकासी के लिए कदम
STEPS FOR EPF WITHDRAWAL

पीएफ निकासी के लिए नया फॉर्म डाउनलोड करें। (composite claim form) यह फॉर्म नियमित फॉर्म 19, फॉर्म 10c और फॉर्म 31 से अलग है। नए फॉर्म को सरल बनाया गया है और इसमें बहुत कम फ़ील्ड हैं।

इस फॉर्म में आपको मोबाइल नंबर, नाम, यूएएन, पता, नौकरी छोड़ने की तिथि, छोड़ने का कारण, और पैन भरना होगा। केवल ईपीएफ राशि वापस लेने के लिए, आपको ‘फॉर्म 19’ भरना चाहिए,

इस फॉर्म के साथ एक कैंसल चेक संलग्न करें।
नए ईपीएफ निकासी फॉर्म जमा करें |

ध्यान दें, आपको यह ध्यान रखना होगा कि यूपीएफओ यूएएन डेटाबेस में उल्लिखित संख्या के साथ रद्द किए गए चेक (cancel check) को आपके यूएएन में सत्यापीत बैंक खाते की संख्या से मिलान करेगा। इन दोनों खातों से मेल खाना चाहिए क्योंकि ईपीएफ शेष राशि यूएएन डेटाबेस में उल्लिखित बैंक खाते में जमा की जाएगी।

2. ईपीएफ निकासी जिन्होंने आधार संख्या नहीं दी है

यह नियोक्ता के हस्ताक्षर के बिना ईपीएफ निकासी का पुराना तरीका है। यदि आपके नियोक्ता आप की BF निकासी हम सत्यापित नहीं कर रहे अथवा आपकी वह कंपनी बंद हो चुकी जिसमें आपके पीएफ रकम जमा हुई है तो ऐसे मामले में भी आप अपने नियोक्ता के हस्ताक्षर के बिना पीएफ निकाल सकते हैं |यह विधि अभी भी उन लोगों के लिए मान्य है जो उपरोक्त विधि के मापदंडों को पूरा नहीं करते हैं। इस विधि में, आपको अपनी पहचान सत्यापित करनी होगी। चूंकि, नियोक्ता सत्यापित नहीं करता है, आपको अन्य विश्वसनीय अधिकारियों से अपने ईपीएफ निकासी फॉर्म को प्रमाणित करना होगा। ये अधिकारी हैं –

1. बैंक के प्रबंधक।

2.कोई राजपत्रित अधिकारी।

3.केंद्रीय बोर्ड ऑफ ट्रस्टी / समिति / क्षेत्रीय समिति (कर्मचारी भविष्य निधि संगठन) के सदस्य।

4.मजिस्ट्रेट / पोस्ट / सब पोस्ट मास्टर / ग्राम पंचायत / नोटरी पब्लिक के अध्यक्ष

आप उपरोक्त सूची में से किसी से भी अपनी पहचान प्रमाणित करवा सकते हैं |जैसा कि आप देख सकते हैं, सूची लंबी है, जो निकासी फॉर्म को प्रमाणित कर सकती है। लेकिन व्यवहारिक तौर पर बैंक प्रबंधक द्वारा प्रमाणन बेहतर है। इसके अलावा, प्रबंधक उस शाखा से होना चाहिए, जहां आपका वेतन खाता बनाए रखते हैं।

ध्यान दें कि आपको आवेदन के प्रत्येक पृष्ठ में हस्ताक्षर और मुहर (seal) लेना होगा।

चूंकि यह एक वैकल्पिक मार्ग है, ईपीएफओ इस प्रक्रिया को प्रोत्साहित नहीं करता है। इसके अलावा, धोखाधड़ी का भी अधिक मौका है। इसलिए, इसलिए आपको इसके साथ एक पत्र भी जमा करना चाहिए जिसमें ईपीएफ निकासी के लिए प्रत्यक्ष आवेदन का कारण बता देना चाहिए।

नियोक्ता द्वारा ‘असहयोग’ के सबूत, अगर कोई है, संलग्न कर लिजिये। यह आपके आवेदन को वज़न देगा। अपने नियोक्ता के साथ लिखित में मेल करने का प्रयास करें, ताकि आपके पास असहयोग के कुछ सबूत हों|

एक 100 रुपये के स्टाम्प पेपर में अपनी परेशानी का विवरण भेज दर्ज करें| हालांकि नियमों के अनुसार यह अनिवार्य नहीं है। लेकिन आपको कोई मौका नहीं छोड़ना चाहिए।

साथ ही, सेवाकाल (नौकरी) की सबूत संलग्न करें। आपको अपने दावे को साबित करने के लिए नियोक्ता से पेस्लिप(payment slip), आईडी कार्ड (ID card), फॉर्म 16 या नियुक्ति पत्र की प्रति संलग्न करनी चाहिए।
साथ ही, अपने पहचान प्रमाण और पता प्रमाण की एक प्रति संलग्न करें।

नियोक्ता हस्ताक्षर के बिना ईपीएफ निकासी के लिए अन्य महत्वपूर्ण बातें

यदि कंपनी बंद हो चुकी है तथा आपके नियोक्ता से किसी भी तरह का कोई सहायता नहीं मिल रहा और आपके पास PF नंबर भी मौजूद नहीं तो आप अपने संबंधित pf ऑफिस में अपने तथा अपने नियोक्ता की जानकारी देकर अपना PF नंबर प्राप्त कर सकते हैं|

यदि बैंक खाता संख्या ईपीएफ रिकॉर्ड के समान होगी तो इससे मदद मिलेगी। पिछली नौकरी का अपना वेतन खाता देने का प्रयास करें।

इसके अलावा, यदि प्रमाणित बैंक प्रबंधक आपकी वेतन खाता शाखा की शाखा से होगा तो यह बेहतर होगा।

यदि कंपनी चालू है और फिर भी नेवता आपकी सहायता नहीं कर रहा तो

ईपीएफ की रकम निकालने के लिए आपके पास दो तरीके हैं। पहला उपाय बहुत आसान है, और हर किसी को इसके माध्यम से जाना चाहिए, चाहे नियोक्ता सहयोग करता है या नहीं। लेकिन, विधि 2 पसंदीदा मार्ग नहीं होना चाहिए। चूंकि यह विधि आसान नहीं है। सीधे ईपीएफओ में जाकर पीएफ निकासी आवेदन करने पर अधिक समय और अधिक दस्तावेज लेते हैं। इस प्रक्रिया में अस्वीकृति (REJECT) की संभावना भी बढ़ जाती है।

ईपीएफ के प्रत्यक्ष निकासी से बचने के लिए 5 टिप्स

1- अपने नियोक्ता को समझाने की कोशिश करें

अपने नियोक्ता को यह बताने की कोशिश करें कि यह आपके पीएफ निकासी फॉर्म पर हस्ताक्षर करने का कानूनी कर्तव्य है। उसे पता होना चाहिए कि आप सभी नियमों और विनियमों से अवगत हैं।

2- वर्तमान कर्मचारियों की सहायता लें|

अपने पहले सहयोगी की उपस्थिति में बात करें जो वर्तमान में वहां काम करता है। क्योंकि HR & ADMIN विभाग अपने मौजूदा कर्मचारियों को बुरा प्रभाव नहीं देना चाहता।

3- एक मध्यस्थ खोजें जो HR से बात कर सकता है।

अपने पुराने कार्यालय में एक व्यक्ति को खोजने का प्रयास करें जो आपके और नियोक्ता के बीच मध्यस्थता कर सके। कभी-कभी यह विधि किसी अन्य प्रक्रिया से बेहतर काम करती है।

4- आखिरी उपाय-कानूनी कार्रवाई के बारे में उसे धमकाएं

श्रम कानूनों और ईपीएफ नियमों के अनुसार, पीएफ पैसे को रोकना अवैध है। यदि कोई नियोक्ता वही कर रहा है, तो वह कानून के खिलाफ काम कर रहा है। आप उसे अदालत में खींच सकते हैं और साथ ही ईपीएफ के सतर्कता आयुक्त से शिकायत भी कर सकते हैं।

ईपीएफओ के साथ फाइल शिकायत

आप ईपीएफओ को नियोक्ता की कदाचार के बारे में शिकायत कर सकते हैं। किसी भी कर्मचारी के पीएफ पैसे को रोकना गैरकानूनी है, ईपीएफओ को सख्ती से इस पर कार्य करना चाहिए। इसके लिए इन चरणों के माध्यम से जायें।

ए। जितना संभव हो सके नियोक्ता के असंगत व्यवहार के सबूत जमा करें।

ख। ईपीएफओ के ऑनलाइन पोर्टल (rgister grivience) पर शिकायत दर्ज करें। साथ ही, अपने सभी साक्ष्य की प्रतियां अपलोड करें।

सी। एक महीने के लिए प्रतीक्षा करें और स्थिति की जांच करें।

घ। ईपीएफओ के साथ RTI दर्ज करें और पूछें कि आपकी शिकायतों पर क्या कार्रवाई की गई है। यह ईपीएफओ को गड़बड़ करने वाले नियोक्ता पर कार्यवाही करने के लिए मजबूर करेगा।

कानूनी नोटिस भेजें

एक वकील चुनें और एक कानूनी नोटिस भेजें। आपको अपने सभी संचार के बारे में बताना चाहिए और श्रम अदालत (Labour Court) को भी एक प्रति देना चाहिए। यदि संभव हो, तो अपनी पिछली कंपनी के अन्य उत्पीड़ित कर्मचारियों के साथ समूह बनाने का प्रयास करें।

About Yogesh Nayak 115 Articles
Hiii Friends, i am Yogesh Nayak author of this website,and i tried to help all indians,about epf/uan/pension/edli and esic benifits.i also try to give you tutorials,information and answer your questions.i hope you help me. Lot of thanks.....

18 Comments

  1. Mere epf me mere resignation date show nahi kar Raje hai jisaki vajah se mai final settlement Ke live apply kar rha hu to ho Nahi pa rha hai , to kripya is bare me Kuhn margdarshan dete to badi kripa hoti apki. …..!!!!

    • दोस्त आप अपने PF नंबर से ही अपना यूएन नंबर जनरेट कर सकते हैं तथा उसे एक्टिवेट कर केवाईसी अप्रूव करवा दीजिए और नौकरी छोड़ने की तारीख का डेट करवा कर ऑनलाइन पीएफ निकाल सकते हैं

  2. Sir mera death case ka matter h. Aur company bhi closed h. Case bhi 14 year purana h. Pf offline claim kiya Maine.
    Jo dacument Pf office mang rha h wo maine saare de diye.
    Samsya kewal itni h ki Pf form ko attested kon Karen Aur Pf office wale bank manager se attest karwane ko bol rhe h Jabki bank manager attest nhi kar rha h maine usse bahut request ki.
    Maine form ko gazetted officer by C M O se attest karwa diya lekin Pf wale form jama nhi kar rhe h mai bahut paresan hu.
    Plz help.

    • mai aapki bhawnao ki kadra karta hu,aur hairan hu ki pf office aur bank manager dono aapki help nahi kar rahe,waise agar company closed hai to ye option rahte hai jinse form attested karakar pf withdraw kiya ja sakta hai,
      1.Manager of a bank.
      2.Any gazetted officer.
      3.Member of the Central Board of Trustees./ committee/ Regional Committee (Employees’ Provident Fund Organization).
      4.Magistrate/ Post/ Sub Post Master/ President of Village Panchayat/ Notary Public

      aap apni sikayat epfindia.gov.in me grivience register kar epfo ko bata sakte hai,

  3. Sir ,mai job chodchuka hu ek sal hogaya PR muje abhi tak mera paisha nahi mila .mera problem Aisha h likh k samjha nahi paunga pls aap muje apna number do ya to call karo pls pls sir 9641203527,7972828528 pls pls .

  4. Sar mare of dusri kamani ka hai vo case nikalegi es samay me dusari kamani me job kar raha hu kya pahali Bali kamani ka PESA nikalsakta hai

  5. Sir mere Uan pe 4 alag alag empoler add hai Jisme 1st wala transfer ho gya 2nd me lekin ab dikat ye h ki jo 4 th employer add hai wo wrong hai us company me mai kabhi join hi nahi ki h jo 3rd empoler hai o abhi mera present hai to ab mai transfer claim kar raha to 4 th wala aa raha hai jo ki wrong update hai or uske passbook me paise abb nahi hai to batay ki mere present employer me transfer kaise hoga or jo mera persent employer hai or jo wrong employer hai dono ka joining date ek hi hai please help me

    Ya mai previous pf ka paisa offline nikal sakta hu

    Jo wrong employer add hai o kaise hatega mete Uan se please batay

    Sir please apna no de

  6. Dear sir

    Mai apane Uan no me exit date dalwa diya hai mujhe offline pf niklwana hai mai usi Uan pe dusra job kar raha hu online nahi nikal raha hai employer bol raha hai aap online karo mai kaya karu

Leave a Reply

Your email address will not be published.