EPF FORM-11 KYA HAI? EPF में फॉर्म 11 क्या है?

EPF FORM-11 KYA HAI? EPF में फॉर्म 11 क्या है?

प्रिय पाठकगण ईपीएफओ में फॉर्म 11 का एक महत्वपूर्ण योगदान तथा एक महत्वपूर्ण काम-काज होते हुए बहुत कम लोगों को इसके बारे में पता होता है अब तक इस बारे में जो भी ध्यान नहीं देते थे अब उन्हें फॉर्म 11 को जानना अति आवश्यक हो गया है क्योंकि ईपीएफओ द्वारा साफ-साफ निर्देश दिया गया है कि एक व्यक्ति को एक ही यूएएन दिया जाएगा और इस कार्य को पूर्ण करने हेतु फॉर्म 11 का एक बहुत बड़ा योगदान रहेगा तो चलिए जानते हैं कि EPF में फॉर्म 11 क्या है और इससे क्या फायदे हैं तथा इस को कब भरना रहता है|

दोस्तों जब भी आप कहीं एक जगह से नौकरी छोड़कर दूसरी जगह भर्ती होने के लिए जाते हैं तो आपको वहां पर नई भर्ती के साथ साथ नया PF नंबर नया यूएन नंबर दे दिया जाता है जबकि ईपीएफओ के नियम अनुसार एक व्यक्ति को एक ही UAN allow है क्योंकि कई बार हम खुद या तो हमारा पुराना यूएएन नंबर नहीं बताते हैं या नियोक्ता की गलती की वजह से हमें फिर से एक नया यूएन नंबर मिल जाता है जोकि epfo के नियम के खिलाफ है यहां पर आपको यह ध्यान रखना है कि जब कभी किसी नई जगह भर्ती होते हैं नौकरी पाने के लिए तो वहां पर आपको फॉर्म 11 भरना चाहिए फॉर्म 11 में आपको अपने पिछले यूएन नंबर PF नंबर ईएसआई नंबर तथा अपने बारे में जानकारियां भरनी रहती हैं यह फॉर्म भरने के बाद जब EPF ऑफिस में नियोक्ता द्वारा भेजा जाता है तो आपका पुराना यूएएन मैं ही आपकी नई PF दर्ज हो जाती है तथा आपकी एक ही यूएन के अंदर सभी PF नंबर आ जाते हैं जिससे आपको यह भी फायदा रहता है कि यूएन एक्टिवेट तथा केवाईसी अप्रूव करवाने के लिए बार-बार जरूरत नहीं पड़ती और एक ही UAN के अंदर आपके सभी पीएफ समाहित हो जाते हैं|

FORM 11 KAB BHARATE HAI? फॉर्म 11 कब भरा जाता है?

जैसा की हमने बताया आप जब कभी भी एक जगह नौकरी छोड़कर दूसरी जगह नौकरी करने के लिए जाते हैं तो आपको वहां पर फॉर्म 11 भरना रहता है ऐसा करने पर आपको नई जगह नया यूएएन नंबर लेने की जरूरत नहीं पड़ती है तथा आपके पुराने UAN नंबर पर ही नई जगह की PF नंबर दर्ज हो जाती है जिससे आपको बार-बार अपने UAN NUMBER लेने एक्टिवेट करने तथा अप्रूव करने की जरुरत नहीं पड़ती है और यह ईपीएफओ के नियमों के अनुसार होता है इसके लिए आपको नियोक्ता को बोलना चाहिए यदि नियोक्ता अपने मर्जी से यह फॉर्म नहीं भराते हैं तो आपको यह फॉर्म भरवाना चाहिए क्योंकि इससे भविष्य में आपको ही फायदा होगा|

FORM 11 ME KYA KYA JANKARI BHARNI PADTI HAI? फॉर्म 11 में क्या-क्या जानकारियां भरनी पड़ती हैं?

1.नाम

2.जन्मतिथि

3.पिताजी का नाम

4.लिंग

5.मोबाइल नंबर

6.पिछला यूएन नंबर

7.पिछला PF नंबर

8.पिछले संस्था में नौकरी छोड़ने की तिथि

9.केवाईसी के तौर पर आधार पैन एवं बैंक खाता की जानकारी|

इसके अलावा और भी कुछ सामान्य जानकारियां घर में रहती हैं|

FORM 11 KE KYA FAYADE HAI? फॉर्म 11 भरने के क्या फायदे हैं?

1. आपको दोबारा से ही यूएएन नंबर लेने की जरूरत नहीं पड़ती है|

2. बार-बार यूएएन एक्टिवेट एवं केवाईसी approve करवाने की जरुरत नहीं पड़ती है|

3. एक ही यूएएन में आपकी सभी PF अंकित हो जाते हैं|

4. पुराने यूएएन में ही नया PF नंबर आ जाने के कारण आपको अपने नियोक्सेता से बार-बार यूएएन नंबर लेने एक्टिवेट करने तथा approve कराने की दिक्कत नहीं होती है|

FORM 11 KAHA SE DOWNLOAD KARE? फॉर्म 11 कहां से डाउनलोड करें?

वैसे तो हर नियोक्ता के पास यह फॉर्म होना चाहिए यदि नियोक्ता के पास आपको फॉर्म 11 नहीं मिलता है तो आप किसी साइबर दुकान से भी फॉर्म 11 प्राप्त कर सकते हैं या फिर यहां क्लिक कर आप फॉर्म 11 डाउनलोड कर सकते हैं तथा इसे प्रिंट कार्ड फॉर्म भरकर जमा कर सकते हैं|

8 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published.