1 अप्रैल से होगा ऑटो पीएफ ट्रांसफर-AUTO PF TRANSFER

1 अप्रैल से होगा ऑटो पीएफ ट्रांसफर-AUTO PF TRANSFER

दोस्तों आज लगभग पीएफ के 80% कार्य ऑनलाइन हो गए हैं, और सभी ऑनलाइन कार्य का निपटान भी ईपीएफओ द्वारा जल्द किए जाने की लगातार प्रयास किए जा रहे हैं| किंतु पीएफ ट्रांसफर आज भी ईपीएफओ के लिए एक लंबी अवधि का कार्य हो जा रहा है| आपको बता दें कि हर साल लगभग 8 लाख पीएफ ट्रांसफर के आवेदन ईपीएफओ के पास आते हैं, जिसे सफल करने में ईपीएफओ का अधिकतर समय व्यर्थ हो जाता है| ऐसे मामले में ईपीएफओ द्वारा अगले वित्त वर्ष अर्थात 1 अप्रैल 2019 से ऑटो पीएफ ट्रांसफर की नई योजना प्रस्तावित की गई है|

कैसे होता है पीएफ ट्रांसफर?KAISE HOTA HAI PF TRANSFER?
कर्मचारी अधिकतर अपने कार्यकाल में एक जगह से दूसरी जगह नौकरी का स्थानांतरण करते रहते हैं, ऐसे में उनका पीएफ में अंशदान अलग-अलग पीएफ नंबर पर होता है, जिससे उनको ईपीएफओ का पूरा लाभांश नहीं मिल पाता है|
अब तक इपीएफ ट्रांसफर करने के 2 उपाय थे-
1.FORM-13 द्वारा– इसके तहत कर्मचारी यदि अपनी वर्तमान नौकरी को छोड़कर किसी नई संस्था में नौकरी ग्रहण करता है, तो उसे फॉर्म 13 ऑफलाइन जमा कर पिछले कंपनी की पीएफ नई कंपनी में ट्रांसफर करवानी पड़ती थी तथा इसमें लंबा समय लग जाता था|

2.ONLINE PF TRANSFER पीएफ अंशधारक ईपीएफओ के यूएएन पोर्टल मैं “one employee-one epf के जरिए भी ऑनलाइन पीएफ ट्रांसफर का आवेदन कर सकते हैं ,किंतु इसमें भी सबसे पहले नियोक्ता का अप्रूवल मिलने के बाद ईपीएफओ द्वारा वेरीफाई किया जाता है जिसमें काफी समय लग जाता है|

क्या है ऑटो पीएफ ट्रांसफर?KYA HAI AUTO PF TRANSFER?
किसी कर्मचारी के एक संस्था से नौकरी छोड़कर दूसरी संस्था में प्रवेश करने पर उसकी पिछली संस्था की पीएफ नए संस्था के पीएफ मैं स्वत: ही ट्रांसफर हो जाएगी और यही है ऑटो पीएफ ट्रांसफर|

कैसे होगा ऑटो पीएफ ट्रांसफर?KAISE HOGA AUTO PF TRANSFER?
जैसे ही कोई कर्मचारी नहीं संस्था में नौकरी ज्वाइन करता है और उसके नियोक्ता द्वारा पहले महीने की पीएफ जमा की जाती है, तो कर्मचारी के यूएएन में रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर मैसेज के द्वारा बता दिया जाएगा कि आपके खाते में ऑटो पीएफ ट्रांसफर एक्टिवेट कर दिया गया है, और कर्मचारी की पिछले पीएफ एवं पेंशन की राशि 10 दिन पश्चात नये पीएफ खाते में ट्रांसफर हो जाएगी| यदि कर्मचारी चाहे तो इन 10 दिनों के भीतर ऑटो पीएफ ट्रांसफर को रोक भी सकते हैं इसके लिए उन्हें अपने नियोक्ता को अवगत कराना होगा|
ऑटो पीएफ ट्रांसफर होने के लिए कर्मचारी को कुछ बातों का ध्यान अवश्य रखना होगा-

  1. कर्मचारी का यूएएन नंबर एक्टिवेट एवं उसमें रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर चालू होना चाहिए|
  2. कर्मचारी को अपने यूएएन केवाईसी में आधार कार्ड लिंक करना आवश्यक है|
  3.  नौकरी बदलते समय नई संस्थान में कार्य ग्रहण करते समय कर्मचारी द्वारा फॉर्म 11 भरा जाना चाहिए, जिसमें यूएएन नंबर एवं आधार नंबर की सही जानकारी प्रदान की जानी चाहिए|
  4. ऑटो पीएफ ट्रांसफर तभी संभव हो पाएगा जब नए नियोक्ता द्वारा कम से कम 1 महीने का पीएफ में भुगतान कर दिया जाएगा|

कैसे रोकें ऑटो पीएफ ट्रांसफर?KAISE ROKE AUTO PF TRANSFER?
यदि कोई कर्मचारी अपनी पिछली पीएफ को नए पीएफ में ऑटो पीएफ ट्रांसफर नहीं करवाना चाहता तो नियोक्ता द्वारा “STOP AUTO PF TRANSFER”के जरिए ऑटो पीएफ ट्रांसफर को रोका जा सकता है|

About Yogesh Nayak 123 Articles
Hiii Friends, i am Yogesh Nayak author of this website,and i tried to help all indians,about epf/uan/pension/edli and esic benifits.i also try to give you tutorials,information and answer your questions.i hope you help me. Lot of thanks.....

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.