वित्त वर्ष 2017-18 के लिए कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ) पर अर्जित 8.55 प्रतिशत की ब्याज जल्द ही जमा की जाएगी।

वित्त वर्ष 2017-18 के लिए कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ) पर अर्जित 8.55 प्रतिशत की ब्याज जल्द ही जमा की जाएगी।
हाल ही में सरकार द्वारा अधिसूचित ब्याज दर 2012-13 के वित्त वर्ष से सबसे कम 8.55 प्रतिशत 2017-18 घोषित की है।
ईपीएफओ द्वारा प्रत्येक वित्त वर्ष की वार्षिक ब्याज दर हर वर्ष मार्च के महीने में PF खाते में जोड़ दिया जाता है किंतु इस वर्ष ब्याज दर की घोषणा हेतू कर्मचारियों के पीएफ खातों पर ब्याज नहीं दिया गया था जो अब जोड़ दिया जाएगा| आप इसे अपने पीएफ पासबुक डाउनलोड कर देख सकते हैं जिसमें मार्च 2017 से लेकर मार्च 2018 तक 1 वर्ष का ब्याज 8.55% जोड़ दिया जाएगा |ईपीएफ एक अनिवार्य योगदान है प्रत्येक कंपनी, जिसमें 20 से अधिक कर्मचारी हैं, को अपने कर्मचारियों के वेतन से कटौती करना है। एक कर्मचारी ईपीएफ में अपने वेतन का 12 प्रतिशत योगदान देता है, जबकि नियोक्ता भी 12 फीसदी का भुगतान करता है, जिसमें से 8.33 प्रतिशत कर्मचारी की पेंशन योजना (EPS) में निवेश किया जाता है जबकि शेष 3.67 प्रतिशत (EPF) में निवेश किया जाता है। ईपीएस और ईपीएफ दोनों कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) द्वारा संचालित हैं।

ईपीएफ के बारे में 10 मुख्य बातें-

1. EPF एक अनिवार्य योगदान है जिस संगठन के अंतर्गत 20 से अधिक कर्मचारि हों|

2. ईपीएफ खाते में कर्मचारी का 12% तथा नियोक्ता द्वारा 12% रकम जमा की जाती है|

3. नियोक्ता द्वारा जमा किए गए 12% में से 8.33% कर्मचारी पेंशन योजना(employees pension scheme) तथा 3.67% कर्मचारी भविष्य निधि (emmployees provident fund) में जमा होता है|

4. कर्मचारी 9 वर्ष 6 महीने से ज्यादा लगातार कार्यरत रहने पर पेंशन हेतु योग्य हो जाता है जिसके तहत कर्मचारी की 58 वर्ष की उम्र हो जाने पर उसे मासिक पेंशन दिया जाता है|

5. 6 महीने से कम की नौकरी तथा 9 साल 6 महीने से ज्यादा की नौकरी में पेंशन का आहरण नहीं किया जा सकता|

6. EPF ने PF को और सुविधाजनक बनाने हेतु यूएएन नंबर (Universal account number) प्रदान की|

7. कर्मचारी अपने PF नंबर द्वारा यूएन नंबर प्राप्त कर सकता है|

8. यूएन नंबर एक्टिवेट तथा उसमें केवाईसी (KYC) के तौर पर बैंक, आधार तथा पैन update तथा approve करवाना आवश्यक है|

9. यूएन में केवाईसी अपडेट तथा वेरीफाई होने पर ऑनलाइन सुविधाओं का लाभ ले सकते हैं|

10. ऑनलाइन सुविधा जैसे कि पीएफ निकासी,एडवांस पीएफ निकासी, पीएफ ट्रांसफर यह सुविधाएं कर्मचारी यूएएन पोर्टल के जरिए घर बैठे कर सकते हैं|

Add a Comment

Your email address will not be published.