पेंशनर्स को मिलेगा तोहफा-न्यूनतम पेंशन हो सकती है दुगनी

पेंशनर्स को मिलेगा तोहफा-न्यूनतम पेंशन हो सकती है दुगनी

Epfo की तरफ से PF मेंबर्स को एक अच्छी खबर मिल सकती है| कल यानी 25 जून को होने वाले सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टी के कमेटी के बैठक में यह निर्णय लिया जाना है की बहुत समय से अटके फैसले को मोहर लगाया जाए या फिर नहीं | दरअसल पिछले कई महीनों से यह मांग है कि पेंशनर्स को मिलने वाली न्यूनतम मासिक पेंशन राशि 1000 से बढ़ाकर ₹2000 प्रतिमाह कर दिया जाए,जिस पर 25 जून को फैसला लिया जाएगा सूत्रों के मुताबिक अधिक संभव है कि न्यूनतम पेंशन राशि को बढ़ाया जाएगा|
आपको बता दें कि फिलहाल देशभर में 6 करोड़ के लगभग PF कर्मचारी हैं तथा इनमें से 70 लाख पेंशनभोगी हैं| और इनमें से आधे से ज्यादा अर्थात 40 लाख पेंशनर्स ऐसे हैं जिनकी मासिक पेंशन 1500 से कम है, यदि यह निर्णय लिया जाता है तथा मासिक न्यूनतम पेंशन 1000 से बढ़ाकर 2000 कर दिया जाता है तो उन 40 लाख पेंशनर्स को बहुत बड़ा फायदा होगा|

पेंशन दुगनी होने की संभावना अधिक
यदि सरकार द्वारा न्यूनतम पेंशन राशि 1000 से बढ़ाकर 2000 कर दी जाए, तो सरकार के ऊपर 3-4 हजार करोड रुपए का बोझ पड़ेगा, लेकिन इसके बावजूद सरकार इसे पास कर सकती है| क्योंकि देखा जाए तो इस बात की पूरी संभावना है कि पेंशन राशि 1000 से बढ़ाकर ₹2000 कर दिया जाएगा इसके मुख्य दो तथ्य हैं जिस कारण इसे बढ़ने के आसार अधिक नजर आ रहे हैं-

पहला– ईपीएफओ अपनी कुछ रकम अलग-अलग मीडिया सेंटर में इन्वेस्ट कर अच्छी-खासी Returns पा रही है|

दूसरा -2019 में होने वाले चुनाव की वजह से भी यह ज्यादा संभव है, क्योंकि यदि सरकार ने न्यूनतम पेंशन राशि दोगुनी कर दी तो उन सभी पीएफ कर्मचारी का योगदान मौजूदा सरकार पर अवश्य जाएगी तथा इसी बात का फायदा लेकर मौजूदा सरकार 2019 में भी अपनी सरकार बनाए रखने में कामयाब हो सकती है|

न्यूनतम पेंशन तथा अधिकतम पेंशन का क्या तात्पर्य है?
सरकार द्वारा पेंशनर्स के लिए न्यूनतम तथा अधिकतम पेंशन राशि तय की जाती है तथा पेंशनर्स को उनके कैलकुलेशन के हिसाब से मिलने वाली मासिक पेंशन राशि यदि कम हो या फिर ज्यादा हो तो भी ईपीएफओ द्वारा तय की गई न्यूनतम तथा अधिकतम पेंशन राशि के हिसाब से ही मासिक पेंशन मिलती है| फिलहाल के समय में न्यूनतम पेंशन राशि 1000 तथा अधिकतम पेंशन राशि 7500 रुपए है| यदि किसी पेंशनर्स की कैलकुलेशन के मुताबिक मासिक पेंशन 1000 से कम निकलती है तो भी उसे मासिक ₹1000 पेंशन मिलेगी और यदि किसी पेंशनर्स की कैलकुलेशन के मुताबिक मासिक पेंशन 7500 से अधिक हो तो भी उसे 7500 रुपए ही मिलेगी क्योंकि epfo की तरफ से अधिकतम पेंशन राशि 7500 हजार रुपए है|

पेंशन की कैलकुलेशन कैसे की जाती है?
यदि आप को पेंशन की कैलकुलेशन नहीं आती तो आप इस बताए गए फार्मूला के हिसाब से अपने पेंशन की गणना कर सकते हैं|

पेंशन की गणना का फार्मूला है
Pension calculation farmula
पेंशन पाने योग्य वेतन X कुल नौकरी किये वर्ष / 70

Average of basic salary OR average of ensionable income
एवरेज ऑफ बेसिक सैलरी या पेंशन पाने योग्य वेतन का. क्या तात्पर्य है?

इसका अर्थ यह है कि आपने जितने वर्ष नौकरी की है उसके आखिरी के 5 वर्ष की बेसिक सैलरी की औसत (average) क्या रही |
इसे आप इस तरीके से निकाल सकते हैं-
मान लीजिए आप की आखिरी के 5 वर्षों में 2 वर्ष की बेसिक सैलरी ₹10000 थी तथा आखिरी के 3 वर्षों में यह बढ़कर ₹12000 हो गई तो इसकी एवरेज बेसिक सैलरी आप इस तरीके से निकाल सकते हैं
10,000X2 + 12,000X3
——————————————-
5

=20,000+36,000
————————-
5

=56,000
———–
5

=11,200
यह एवरेज ऑफ बेसिक सैलरी या पेंशन पाने योग्य वेतन होगा|
अब यदि आपने कुल 10 वर्ष नौकरी की है तो आपकी मासिक पेंशन राशि की कैलकुलेशन इस तरीके से निकाली जाएगी-
फॉर्मूलॉ-
पेंशन पाने योग्य वेतन X कुल नौकरी किये वर्ष / 70
=11,200X10/70
=1,600 मासिक पेंशन मिलेगी|

9 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published.