Pf ki taza khabar

पीएफ कर्मचारियों के लिए 2 बड़ी खबर

पीएफ कर्मचारियों के लिए 2 बड़ी खबर

नमस्कार दोस्तों ,फिलहाल पीएफ कर्मचारियों के लिए 2 बड़ी खबरें हैं | जो सभी पीएफ कर्मचारियों के लिए हितकर एवं लाभकारी होगा| इस पोस्ट में हम जानेंगे की वे दो बड़ी खबर क्या है|

1. कर्ज़दारों का कर्ज चुकाने से पहले पीएफ की रकम जमा करनी पड़ेगी|
दिवालिया घोषित कंपनी के कर्मचारियों के लिए एक बड़ी राहत की खबर है, की जो कंपनियां कर्ज में डूबी हुई हैं उनको अपने कर्जदारों का कर्ज चुकाने से पहले अपने कर्मचारियों के बकाया पीएफ राशि को जमा करना पड़ेगा| क्योंकि एनसीएलटी (नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल) ने निर्देश दिये हैं कि जो कंपनियां कर्ज में डूबी हुई हैं, वह अपने कर्जदारों का पैसा चुकाने से पहले अपने कर्मचारियों के प्रोविडेंट फंड के बकाए राशि का भुगतान करें| और यह फैसला एनसीएलटी ने प्रेसीजन फास्टनर्स के मामले में सुनाया है, और यह फैसला उन सभी कर्मचारियों के लिए एक बड़ी और अच्छी खबर है जो किसी ऐसी कंपनी में कार्यरत हैं अथवा थे जो कंपनी कर्ज में डूबी हुई हो|

2. मृतक आश्रितों के मामले में 1 हफ्ते में पीएफ का निपटान करने का निर्देश|
जैसा कि आप सभी लोगों को पता होगा कि पीएफ की फाइनल निकासी के लिए नौकरी छोड़ने के पश्चात 2 महीने तक का इंतजार करना पड़ता है| और फिलहाल के नए नियम के अनुसार नौकरी छोड़ने के एक महीने बाद भी अंशधारक अपने पीएफ रकम में से 75% रकम निकाल सकते हैं तथा बाकी बचे 25 प्रतिशत रकम अगले महीने अर्थात नौकरी छोड़ने के 60 दिन बाद निकाल सकते हैं| किंतु ईपीएफओ ने इस हफ्ते एक नया निर्देश जारी किया है जिसके तहत उन लोगों को काफी मदद होगी जिनके परिवार की कोई सदस्य कंपनी में कार्य करते हुए दुर्घटना में मृत्यु हो जाती है| ऐसे मामले में पीएफ अंशधारक की मृत्यु हो जाने पर उस पर आश्रित परिवारजन को एक हफ्ते के भीतर ही पीएफ का भुगतान कर देने का निर्देश दिया गया है एवं आश्रित को पूरे हिसाब के साथ पारिवारिक पेंशन का सर्टिफिकेट भी दे दिया जाएगा| ईपीएफओ के केंद्रीय अपर आयुक्त के.एल. गोयल ने सभी क्षेत्रीय भविष्य निधि संगठन को निर्देश दिए हैं कि अंशधारक की असामयिक मौत पर आश्रित से क्लेम फॉर्म प्राथमिकता के आधार पर निर्धारित करें जरूरत पड़ने पर ईपीएफओ की टीम खुद अंशधारक के कागजातों का सत्यापन करेगी भुगतान के समय ही अंशधारक के परिवार को कर्मचारी लिंक्ड बीमा योजना अर्थात (employee deposite linked insurance) की धनराशि भी अतिरिक्त के तौर पर दे दी जाएगी| जिसके तहत अधिकतम 6लाख रुपए तक की धनराशि प्रदान की जाती है|

Comments (2)

  1. Mahesh chand sharma v bikeri p golakabas Alwar Rajasthan 301410

  2. Mahesh chand sharma v bikeri p golakabas Alwar Rajasthan 301410 p f N 27591 000 3025

Comment here