पीएफ अकाउंट के साथ फ्री में मिलने वाले यह 5 बड़े फायदे शायद ही आप जानते होंगे

पीएफ अकाउंट के साथ फ्री में मिलने वाले यह 5 बड़े फायदे शायद ही आप जानते होंगे

अगर आप भी किसी कंपनी अथवा संस्था में नौकरी करते हैं, जो कि ईपीएफओ के अंतर्गत आती है और आप की पीएफ जमा होती है, तो इसके लाभ भले ही आप जानते हैं लेकिन इसके साथ ही आपको कई और अन्य फायदे भी होते हैं जिनके बारे में शायद आपको पता ना हो| हालांकि ईपीएफओ ने साल 2017-18 के लिए ब्याज दर घटाकर 8.55% कर दी हो फिर भी यह बचत का एक बेहतर विकल्प बना हुआ है| आज हम जानेंगे पीएफ खाते के साथ मिलने वाले पांच ऐसे फायदे जो हमारे बड़े काम की हैं|

1. निष्क्रिय खातों पर ब्याज
आपने भले ही अपनी नौकरी छोड़ दी हो किंतु आपके जमा पीएफ रकम पर आपको ब्याज मिलता रहेगा| 2016 के पहले तक नौकरी छोड़ने के बाद केवल 3 साल तक ही ब्याज दिया जाता था किंतु 2016 में ईपीएफओ ने इस नियम में बदलाव कर दिया है और फिलहाल आपको ब्याज मिलता रहेगा| किंतु यह भी ध्यान रखें कि नौकरी छोड़ने के 5 साल बाद यदि आप अपना पीएफ का रकम निकालेंगे तो आपको इसके लिए टैक्स भी भरना पड़ेगा| इसलिए नौकरी छोड़ने के 3 साल के भीतर ही आप अपना पीएफ का रकम निकाल लें|

2. बंद पीएफ खातों का पैसा लौटाएगी सरकार
शायद आपको पता ना हो लेकिन सरकार के पास इस समय लगभग 4 हजार करोड़ रुपए अनक्लेम्ड (UNCLAIMED) पीएफ मनी है|अर्थात ऐसे पीएफ खाते जिनमें पैसे तो जमा हैं, लेकिन उन्हें कोई क्लेम नहीं कर रहा| अक्सर हम अपने जीवन में कई संस्थाओं या कंपनियों में कार्य करते हैं जहां पर हम कम समय के लिए नौकरी करते हैं ,वहां नौकरी छोड़ने के बाद अपना पीएफ रकम निकालना भूल जाते हैं ,भारत भर में ऐसे कई लोग हैं जो अपना पीएफ का पैसा नहीं निकालते| इस तरह ईपीएफओ के पास हजारों-लाखों लोगों का पैसा unclaimed पड़ा रहता है| पहले केंद्र सरकार द्वारा इस रकम का उपयोग सरकारी कल्याणकारी योजनाओं की फंडिंग के लिए करने की चर्चा थी लेकिन विरोध होने पर अब ब्याज के साथ यह रकम उन लोगों को लौटाई जाएगी जो इसके असली हकदार हैं लेकिन आपको इसके लिए थोड़ी भागा दौड़ी करनी पड़ सकती है|

3. अधिक से अधिक लोगों को फायदा
ईपीएफओ के अनुसार वे संस्थाएं जिनके अंतर्गत 20 या 20 से अधिक कर्मचारी कार्य करते हैं ईपीएफओ में पंजीयन आवश्यक है |किंतु अब ईपीएफओ इस विषय पर फैसला लेगा की 10 या 10 से अधिक कर्मचारी कार्य करने वाले संस्थाओं को भी ईपीएफओ में पंजीयन आवश्यक हो जाएगा|

4. पीएफ पर फ्री इंश्योरेंस
अधिकतर लोगों को यह पता नहीं होता की पीएफ खाते के साथ एक बीमा भी मिल जाता है, जिसे EDLI कहते हैं अर्थात EMPLOYEES DEPOSITE LINKED INSURANCE और इसमें अधिकतम 6 लाख रुपए तक का इंश्योरेंस मिलता है| अर्थात कार्य काल के समय यदि दुर्घटनावश किसी तरह आपकी मृत्यु हो जाती है तो आपके परिवार वालों को अधिकतम ₹6,00000 तक की बीमा रकम भी मिलती है|

5. यूएएन का फायदा
यूएएन नंबर आने के पहले तक पीएफ के कामकाज ऑनलाइन करना मुश्किल था किंतु यूएएन पोर्टल के आ जाने के बाद कर्मचारी अपने पीएफ संबंधित ऑनलाइन कामकाज स्वयं कर सकते हैं जैसे कि -ऑनलाइन पीएफ निकासी, ऑनलाइन पीएफ ट्रांसफर, एडवांस पीएफ निकासी, पीएफ जानकारी में सुधार, अपने नॉमिनी का नामांकन इत्यादि|

4 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published.