अप्रैल से ईपीएफओ शुरू करेगा कार्रवाई, पीएफ जमा न करने वाले नियोक्ता जाएंगे जेल

अप्रैल से ईपीएफओ शुरू करेगा कार्रवाई, पीएफ जमा न करने वाले नियोक्ता जाएंगे जेल

भोपाल : ईपीएफओ के पास मध्यप्रदेश के कई जिलों से इस तरह की शिकायतें पहुंच रही हैं, जिनमें नियोक्ताओं द्वारा अंशनिधि जमा नहीं करने का जिक्र है। शिकायतों के आधार पर ईपीएफओ ने भी जांच कराकर नियोक्ताओं को नोटिस भेजे हैं। इसके अलावा प्रदेश की विभिन्न संस्थाओं में ठेके पर काम कर रहे कर्मचारियों की पीएफ कटौती का मामला भी है। उन्हें पीएफ का लाभ नहीं मिल रहा।
कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने कर्मचारियों का पीएफ जमा न करने वाले नियोक्ताओं को जेल भेजने की तैयारी कर ली है। ईपीएफओ ने अप्रैल ही ऐसे सभी मामलों में रिवेन्यू रिकवरी सर्टिफिकेट (RRC) जारी करने का निर्णय लिया है। इसके तहत डिफाल्टर नियोक्ताओं निजी और संस्था की प्रापर्टी भी अटैच कर नीलाम करने जैसा कदम भी उठाया जाएगा।
इस संबंध में भी ईपीएफओ ने नियोक्ताओं से ब्योरा मांग लिया है। 1 अप्रैल के बाद ऐसे मामलों में सख्त कार्रवाई शुरू कर दी जाएगी। प्रदेश के सभी क्षेत्रीय कमिश्नरों से उनके क्षेत्रों में मौजूद डिफाल्टर नियोक्ताओं को चिन्हित करने की प्रक्रिया शुरू की गई है।